×
Hindi News >>>Top 10 >>> पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल को मिली गुजरात मुख्यमंत्री पद की कमान

राजनीती:पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल को मिली गुजरात मुख्यमंत्री पद की कमान

भूपेंद्र पटेल का जन्म 15 जुलाई 1962 को हुआ था | उन्होंने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है। वह कडवा पाटीदार समाज के नेता हैं और गुजरात में इस समुदाय में अच्छी पकड़ रखते है |
Ash
Abhishek Pandey
Published: 2021-09-13 01:55:22
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी के 11 सितम्बर को इस्तीफे के बाद 12 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात के नए मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेंद्र पटेल के नाम पर मुहर लग गयी है | गुजरात की राजधानी गांधीनगर में हुई बैठक के बाद पटेल को विधायक दाल का नेता चुना गया | 13 सितम्बर को भूपेंद्र पटेल मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे | 

बता दें भूपेंद्र पटेल हमेशा लो प्रोफाइल में रहते है, लेकिन फिर भी पाटीदार समाज में उनकी अच्छी पकड़ है | माना जाता है की पटेल नरेंद्र मोदी और अमित शाह के गुजरात के पसंदीदा नेताओं में से एक है | गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल और वर्तमान में उत्तरप्रदेश की मौजूदा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के काफी खास माने जाते है | 

भूपेंद्र पटेल का जन्म 15 जुलाई 1962 को हुआ था | उन्होंने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है। वह कडवा पाटीदार समाज के नेता हैं और गुजरात में इस समुदाय में अच्छी पकड़ रखते है | भूपेंद्र पटेल को उनके निर्वाचन क्षेत्र में कार्यकर्ता 'दादा' कहकर पुकारते हैं।

बता दें भूपेंद्र पटेल ने 2017 में पहली बार गुजरात विधानसभा लड़ा था| उन्हें भारतीय जनता पार्टी से अहमदाबाद जिले की घाटलोडिया सीट से पहली बार चुनाव लड़ा था और रिकॉर्ड 1.17 लाख वोट से जीत दर्ज की थी। उन्हें 1.75 लाख से ज्यादा वोट मिले थे। उनके प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के शशिकांत पटेल को 57,902 वोट मिल पाए थे। पहली बार विधायक बने पटेल को अब पार्टी ने राज्य की कमान सौंप दी।


गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के नगर पालिका अध्यक्ष से मुख्यमंत्री तक का सफर

भूपेंद्र पटेल 1999 से 2000 और 2004 से 2005 तक मेमनगर नगरपालिका के चेयरमैन रहे और वे 2010 से 2015 तक अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन भी रहे है इसके 
 बाद वह 2015-17 के दौरान अहमदाबाद अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (ओडा) के चेयरमैन रहे। भूपेंद्र पटेल 2017 में पहली बार घाटलोडिया सीट से विधायक बने और उन्होंने 1 लाख से ज्यादा वोट से जीत दर्ज की थी।

CM की रेस में नहीं था भूपेंद्र पटेल का नाम 

2017 में अहमदाबाद जिले की घाटलोडिया सीट से पहली बार विधायक बने पटेल का CM बनने की रेस में कहीं नाम नहीं था | विजय रुपानी के इस्तीफे के बाद से उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, पूर्व मंत्री गोरधन जदाफिया और दादरा और नगर हवेली, और लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल्ल पटेल को मुख्यमंत्री बनाये बनाये जाने के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन भूपेंद्र  पटेल के नाम की घोषणा होने के बाद से ही इस सभी नामो पर पूर्णविराम लग गया |

इसके अलावा गुजरात बीजेपी प्रमुख सीआर पाटिल, और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के भी सीएम पद की रेस में शामिल होने की चर्चा थी | पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल गुजरात के मुख्यमंत्री की दौड़ में कहीं नहीं थे |

गुजरात के नए CM भूपेंद्र पटेल पाटीदार समुदाय से ताल्लुख रखते है, कयास लगाए जा रहे है की 2022 गुजरात विधानसभा चुनाव में BJP ने पाटीदार समुदाय पर पकड़ मजबूत करने के लिए यह दाव खेला है |

बता दें कुछ ऐसा ही निर्णय सभी कयासों को नकारते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था | 
Copyright © 2021 Prime Today Media Ventures.
Powered by Viral Vision Media
Follow Us